यूपी के भाजपा विधायक की सूरत में जुबान फिसली, आईएएस- आइपीएस को बताया सबसे ज्यादा भ्रष्ट

सूरत। हिंदी में कहावत है ‘ नाच न जाने आंगन टेढ़ा ‘ यानी किसी व्यक्ति को नाचना आता न हो , लेकिन वह अपनी गलती स्वीकारने के बजाय अन्य की गलतियां बताता है और कहता है कि मुझे नाचना तो आता है, लेकिन सही जगह नहीं होने के कारण मै नाच नहीं पाया। अपनी खुद की छोटी लाइन बड़ी करने के बजाए दूसरों की लाइन पोंछ ने का काम करते उत्तर प्रदेश के भाजपा के विधायक सूरत में देखने मिले। उत्तर प्रदेश के बदलापुर के विधायक रमेश मिश्रा सचिन क्षेत्र में आयोजित उत्तर भारतीय समाज के कार्यक्रम में मेहमान के तौर पर आए थे। मेहमान बने रमेश मिश्रा की अपने भाषण के दौरान जुबान फिसल गई थी। नेताओं की छवि को स्वच्छ बताने के प्रयास में आईएएस और आइपीएस अधिकारियों को ही लपेटे में लिया और उन्हें सबसे ज्यादा भ्रष्ट कहा था। रमेश मिश्रा ने श्रोताओं को बताया कि आपके बेटों को नेता बनाना, लेकिन आजकल लोग आईएएस और आइपीएस बनाना चाहते है। लेकिन , क्या आप जानते हो आईएएस और आईपीएस भ्रष्टाचार करने के अलावा अपने जीवन में कुछ करते ही नहीं है। इस दौरान अंत में उन्हें ज्ञात हुआ कि आखिर वह क्या बोल बैठे और तब उन्होंने अपनी गलती सुधारने का प्रयास भी किया, लेकिन उसमें वह विफल रहे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने क्षेत्र में जनहित के लिए रात दिन एक कर कार्य कर रहे है, तब रमेश मिश्रा जैसे विधायक अपनी बदजुबानी से पार्टी और योगी सरकार की छवि धूमिल कर रहे है। आईएएस और आईपीएस को भ्रष्ट कहने वाले रमेश मिश्रा का विडियो सोशल मीडिया पर हो रहा है, तब सवाल यह उठता है कि रमेश मिश्रा ने जो बात कही वो बात यदि कोई आम आदमी करता तो सूरत पुलिस आयुक्त या कलक्टर उसे जेल के सलाखों के पीछे भेज देते। तो क्या आईएएस और आईपीएस अधिकारियों के लिए बदजुबानी करने वाले रमेश मिश्रा के खिलाफ भी कोई कार्रवाई होगी या भी उन्हें ऐसे ही छोड़ दिया जाएगा, जिससे ऐसे जनप्रतिनिधियों के हौसले बुलंद हो यह देखना दिलचस्प होगा।

Subscribe US Now