बैंक कर्मचारियों को क्यों रास नहीं आ रही मोदी नीति

सूरत
बैंकिग और बीमा कंपनियों के विलिनीकरण और मजदूर नियमों में संशोधन के खिलाफ बुधवार को देशव्यापी राष्ट्रीयकृत बैंकों के हड़ताल में सूरत के बैंककर्मी भी जुड़ेंगे। बुधवार को हडताल के पहले मंगलवार को विरोध प्रदर्शन भी किया जाएगा।
बैंकिंग संगठन से जुड़े वसंत बारोट ने बताया कि केन्द्र सरकार की ओर से प्रस्तावित कई नियमों का बैंक संगठन विरोध कर रहे हैं। बारोट ने बताया कि सरकार की ओर से राष्ट्रीयकृत बैंकों को विलिनीकरण का विरोध बैंक संगठन कर रहे है। साथ ही 44 मजदूर कानून को मिलाकर सरकार चार कानून में बना देना चाहती है। फिक्सड वेतन पर कर्मचारी रखे जाने, कोन्ट्राक्ट पर कर्मचारी रखे जाने, और लघूत्तम वेतन से भी कम वेतन पर नियुक्ती आदि के विरोध में बुधवार को राष्ट्रीयकृत बैंक के कर्मचारी हड़ताल में जुड़ेंगे। सूरत शहर में अंदाजन 4500 बैंक कर्मचारी हड़ताल में शामिल होने के कारण कामकाज बाधित होगा। बुधवार को हडताल के पहले मंगलवार को विरोध प्रदर्शन भी किया जाएगा।[MORE_ADVERTISE1]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

उधना का ई राजेश जरीवाला

सूरत महानगर पालिका के उधना झोन्न के कार्यपालक इंजीनियर राजेश जरीवाला के क्षेत्र में चल रहे अवैध निर्माण

Subscribe US Now