इस बूटलेगर पुलिस से बचने के लिए फैला रखा था मुखबिरों का जाल

सूरत. क्राइम ब्रांच ने सूरत समेत दक्षिण गुजरात में २३ मामलों में फरार चल रहे एक बूटलेगर (शराब तस्करी करने वाला) को वलसाड के एक अस्पताल से गिरफ्तार किया है।
पुलिस उप निरीक्षक वी.वी.भोला ने बताया कि शातिर विनोद वर्मा उर्फ विनोद भैया उत्तरप्रदेश के कानपुर जिले के उंच गांव का मूल निवासी है तथा वलसाड के कल्याणवाड़ी इलाके में रहता है। वह २०१२ से सूरत समेत दक्षिण गुजरात के विभिन्न इलाकों में अवैध रूप से शराब की बिक्री करने वालों को शराब की आपूर्ति कर रहा था। उसके खिलाफ सूरत शहर, ग्रामीण, वलसाड, नववारी जिलों में शराब आपूर्ति के कई मामले दर्ज हैं। वह २३ मामलों में फरार चल रहा था। पुलिस ने की खोज में कई बार उसके संभावित स्थानों पर छापे मारे लेकिन वह नहीं मिला। पुलिस के पहुंचने से पहले ही वह वहां से भाग निकलता था। बुधवार को उसके वलसाड के निजी अस्पताल में होने की सूचना मिलने पर क्राइम ब्रांच ने बेहद गुप्त रूप से छापा मार कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में बताया कि पुलिस से बचने के लिए उसने अपने मुखबिरों को सक्रिय करता था। जिसके जरिए उसे पुलिस के पहुंचने से पहले ही सूचना मिली जाती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

पीएसआई समेत दो ९० हजार की घूस लेते गिरफ्तार

जरी व्यापारी को धोखाधड़ी के मामले में नहीं फंसाने के लिए मांगे थे रुपए सूरत. अधिकतर मामलों में पुलिसकर्मियों को रिश्वत लेने के मामलों में रंगे हाथों पकडऩे में विफल रहने वाले भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने सलाबतपुरा थाने के एक पुलिस उप निरीक्षक समेत दो जनों को ९० हजार रुपए […]

Subscribe US Now